पापनाश तथा भक्ति की प्राप्ति के लिये